TU RUTHA SA LAGATA HAI

तू रूठा रूठा सा लगता है,

कोई तरकीब बता मनाने की,

मैं ज़िन्दगी गिरवी रख दूंगा,

तू क़ीमत बता मुस्कुराने की..


जमाने से नही तो तनहाई से डरता हुँ,
प्यार से नही तो रुसवाई से डरता हुँ,
मिलने की उमंग बहुत होती है,
लेकिन मिलने के बाद तेरी जुदाई से डरता हुँ..!!

Popular posts from this blog

Roj Sochta Hoon Kii Bhul Jaun Tujhe

Zindagi KI TALASH MAIN HUM

Nic collection of heart bit shayri